योगी की सरकार का भ्रूण हत्या के खिलाफ बढ़िया प्लान

योगी की सरकार का भ्रूण हत्या के खिलाफ बढ़िया प्लान

UP में एक सर्कुलर के अनुसार अगर कोई up परिवहन का बस चालक ड्राइविंग करते समाय मोबाइल पर बात करते हुए पाया गया तो उसकी फोटो खींचकर whats-app पर भेजने वाले को पुरस्कार से सम्मानित किया जायेगा और जिसका फोटो भेजा है उसे दंड के तौर पर भुगतान भी करना होगा।

इस तरह की खबर से ऐसा लगता है की up की सरकार आम जनता का सहारा ले रही है कानून तोड़ने वालो को अपने शिकंजे में फसाने के लिए।  

up सरकार ने decide किया है की जिस तरह का सर्कुलर हरियाणा, राजस्थान और पंजाब में है उसीतरह का सर्कुलर हम भी एक चलायेंगे। up में बाल लिंग का अनुपात लगातार गिरता नजर आ रहा है जिसके चलते योगी आदित्यनाथ ने यह फैसला किया है की वो अब इस के लिए लोगो को प्रलोभन अभियान में शामिल होना होगा या हो सकतें है।

2001 की जनगणना में यूपी में बाल लिंग अनुपात 1000 लड़कों के लिए 916 महिलाओं था, लेकिन 2011 में, यह 1000 लड़कों के प्रति 902 हो गया। उत्तर प्रदेश के प्रिंसिपल सेक्रेटरी (स्वास्थ्य) प्रशांत द्विवेदी ने 23 जून को सभी डीएम को एक पत्र भेजा जिसमें उन्होंने लिखा,

2001 की जनगणना के अनुसार up में लिंग अनुपात 1000:916 था। जबकि २०११ में यह अनुपात 1000:902 हो गया।

इस सम्बंद में up के प्रिंसिपल सेक्रेटरी (स्वास्थ्य) प्रशांत द्विवेदी ने पत्र के जरिये डीएम को कहा है की हमें इस मिशन पर 1 जुलाई से काम करना शुरू करना होगा। और इस मिशन में राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन से मदद मिल रही है।

इन्होने पैसे का लालच देकर इस लिंग अनुपात को कम करने का एक मास्टर प्लान बनाया है जिसमें जो भी व्यक्ति हॉस्पिटल में लिंग जाँच या अन्य illegal activities की खबर देगा उसे 2 लाख रूपये पुरस्कार के रूप में देने का प्रावधान है।

इसमें पुरस्कार राशी को इनफॉर्मर को एक बार में भुगतान नहीं किया जायेगा। इसकी तिन किश्त होगी। जिसमें पहली क़िस्त 40000 की होगी जब गर्भवती महिला या उसका परिवार भुगतान दे चूका होगा। उसके बाद us informer को बाकि की क़िस्त लेने के लिए कोर्ट में गवाही देनी होगी। उस वक्त दूसरा क़िस्त का भुगतान informer को दे दिया जायेगा। और तीसरा और अंतिम भुगतान जब दोषी को सजा होगी।

इस तरह से up की सरकार ने मास्टर प्लान बनाया है ताकि लिंग अनुपात को बरक़रार रख सकें।

पैसे के लालच में आकार कई लोग अवैध रूप से भी लाभ कमाने की कोशिश कर्रेंगे पर इसके लिए informer और प्रेग्नेंट महिला का रजिस्ट्रेशन प्रोसेस लागु किया गया है। अगर कोई ऐसा करता है तो उसका नाम ब्लैक लिस्ट में डाल दिया जायेगा।

यह एक बहुत ही खतरनाक operation है। पर सरकार इसे महफूज बनाने की कोशिश कर रही है। सबसे बड़ा खतरा तो informer और प्रेग्नेंट महिला के नाम उछालने से है पर सरकार के प्रावधान के हिसाब से इनकी पहचान गुप्त राखी जाएगी जो की बहुत जरूरी है।

news source