online खरीददारी में पत्थर कोन भेजता है? बाद में पता लगता है या नहीं

Online खरीददारी में पत्थर कोन भेजता है? बाद में पता लगता है या नहीं

आजकल यह बात बहुत ही popular हो रही है की online में साबुन या पत्थर deliver हो रहे है जबकि आर्डर में अन्य वस्तु आर्डर की गई होती है। जब कोई आर्डर करता है तो सब सोचतें है की यह कंपनी हमारे साथ धोखा नहीं करेगी और जब उसे पत्थर मिलता है तो वह अनगिनत अपशब्द बोलता है।

आखिर कोन भेजता है ये पत्थर किसका काम है या इसके पीछे क्या मकसद है। अगर आप किसी कंपनी या दुकान के मालिक होतें तो क्या आप अपने ग्राहक को पत्थर भेजते? इस आर्टिकल में आज आपको सारे जवाब मिल जायेंगे। सबसे पहले हमें जानना चाहिए की कंपनी कैसे चलती है।

किसी भी ecommerce website पर बिकने वाला सामान ecommerce website चलाने वाली कंपनी के पास नहीं होता है और यदि होता भी है तो ज्यादा नहीं होता। यह सारा सामान सेलर का होता है जो की किसी भी ecommerce website में अपना सेलर के रूप में रजिस्ट्रेशन करता है और उस website के जरिये सामान बेचने का अधिकार ले लेता है।

कंपनी का काम सेलर से सामान कलेक्ट करके उसे अपनी आन्तरिक या बाहरी कुरियर सर्विस द्वारा buyer तक पहुँचाने का काम होता है। जब सेलर इसे पैक करता है तो इस पर कंपनी द्वारा provide एक बार कोड उस पैकेट के उप्पर लगा देता है और बिल उस पॉकेट के अन्दर डाल देता है। वस्तु के उप्पर लगी कंपनी की पॉलिथीन या बॉक्स भी दुकानदार कंपनी से खरीदकर लगता है। पैकेजिंग का काम कंपनी में नहीं होता है।

दुकानदार के सामान भेजने के बाद जब ग्राहक को सामान मिलता है तो उसके 15 दिन बाद दुकानदार या सेलर को पैसे मिलतें है तो जाहिर है की दुकानदार तो ऐसा नहीं करेगा वो तब कर सकता था जा उसे हाथो हाथ पैसे मिल जातें।

कंपनी अपना सारा बेक ऑफिस का काम उस बार कोड के जरिये करती है उसे स्कैन करतें है। उसकी पूरी डिटेल कंप्यूटर में आ जाती है और ऑफिस का काम करने में या एंट्री करने में बहुत आसानी होती है। पूरा प्रोसेस होने के बाद इसे वैसा का वैसा कूरियर सर्विस द्वारा ग्राहक के घर पर पहुंचा दिया जाता है।

इस तरह पूरे प्रोसेस में कहीं भी पता नहीं लग पाता है की पत्थर किसने डाला है या डाल सकता है। इसमें हम किसी को भी blame नहीं कर सकतें है। हमारे पास सिवाय कंपनी को अपशब्द बोलने के अलावा कोई रास्ता नहीं रहता है।

कंपनी इस बात का पता नहीं कर सकती है की ये किसका काम है क्योंकि यह बहुत सारे हाथों से होकर गुजरता है। कंपनी ज्यादा से ज्यादा उन सभी लोगो को बर्खास्त कर देगी जिनके हाथो से उस सामान की processing हुई है।

क्या करें

जब भी आप कोई सामान मंगाएं तो सबसे पहले उसे अपने मोबाइल के सामने लाकर रख दें और उसके unpack का पूरा विडियो शूट कर लें। अगर उसमें कोई अन्य वस्तु निकल जाती है तो आपको claim करना बहुत आसान हो जाता है।

अगर आपके सामान में आपकी आर्डर की हुई वस्तु नहीं निकलती है तो आप उसी eCommerce website पर return की प्रोसेस को पूरा करें और सबूत के तौर पर उस unpack विडियो को upload कर दें। अगर आपके पास मोबाइल नहीं है तो दुसरे से ले लें लेकिन आपके पास सबूत होने से यह काम बहुत आसान हो जाता है।

किसी पार्सल में पत्थर आना या गलत आर्डर आना एक ही बात है। कोई भी कंपनी यह नहीं चाहती है की वह किसी के साथ बेईमानी करें। अगर buyer नाराज हो जायेंगे तो कंपनी कैसे चलेगी। आजकल eCommerce website पर खरीददारी का प्रतिशत बाजार से बढ़ता जा रहा है।